NFC Kya Hota Hai? Yah Kaise Kaam Karta Hai?

Smartphone के दौर में हम कई ऐसी फैसेलिटीज को यूज कर रहे हैं जिनके बारे में हमें जानकारी नहीं होती है आज हम ऐसे टॉपिक के बारे में बात करने वाले हैं जो कि शायद आपने यूज भी किया हो जिसकी सहायता से आप पेमेंट करते हैं

NFC Icon

NFC का नाम आपने तो सुना ही होगा और शायद आपने उसका यूज़ भी किया हूं लेकिन इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आज आप इस पोस्ट में जान सकते हैं NFC से जुड़ी हुई जानकारी हम इस पोस्ट में डिटेल से जानेंगे

NFC क्या है?

NFC का पूरा नाम Near Field Communication होता है यहाँ नाम से ही जाना जा सकता है कि यह नजदीकी डिवाइस से Connect होकर Communication करने का एक Tool है जिसमें Radio Frequency Signal का उपयोग किया जाता है

पहले NFC का ऑप्शन महंगे डिवाइसों में दिया जाता था लेकिन आज के समय में यह Option मध्यम कीमत वाले Smartphone में भी दिया जाने लगा है हम अपने स्मार्टफोन का यूज करके NFC का इस्तेमाल कर सकते हैं

NFC का यूज करने के लिए दो अलग-अलग Device का होना जरूरी होता है पहला डिवाइस जोकि Transmitting Device कहलाता है और दूसरा जो कि Signal को Receive करने के लिए होता है जिसे Two Way Communication भी कहा जाता है

आज के समय में हमारे Debit Card या Credit Card में भी NFC का इस्तेमाल होने लगा है जिसकी सहायता से हम NFC रिसीवर जोकि ATM Card Machine के रूप में काम करती है उस पर भी हम अपने कार्ड की सहायता से Payment कर सकते हैं पेमेंट करने के लिए हमें कार्ड को Swap करने की जरूरत नहीं होती है उसे आसानी से मशीन पर टच करके पेमेंट किया जाता है

आपने अपने मोबाइल में या लैपटॉप में Wi-Fi, Bluetooth का इस्तेमाल किया होगा, NFC भी इसी तरह की सुविधा होती है जिसका यूज हम अधिकतर पेमेंट करने के लिए करते हैं यह एक फ्री सुविधा होती है जो कि किसी भी डिवाइस में पहले से ही उपलब्ध होती है

NFC काम कैसे करता है?

NFC को यूज करने के लिए डिवाइस को कनेक्ट करना जरूरी होता है इसका यूज करने के लिए 2 ऑब्जेक्ट का इतना करीब होना जरूरी है जितना वह Radio Frequency को Receive या Send कर सकें, दो Objects के बीच की दूरी लगभग 3 से 4 सेंटीमीटर होनी चाहिए

NFC logo

जब हम NFC का यूज करते हैं तो वह Communication Field बनाता है जिसके अंतर्गत यदि कोई डिवाइस होता है तो वह उसे टच करने से दोनों के बीच कनेक्शन बन जाता है इसके बाद डाटा को आदान-प्रदान करने की प्रोसेस की जाती है

NFC के प्रकार

NFC मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं जिन्हें हम Active NFC Device और Passive NFC Device कहते हैं

Active NFC Device
इसके अंतर्गत वह Device आते हैं जो Data को Send और Receive कर सकते हैं इन डिवाइसों के लिए विद्युत की जरूरत होती है इसके अंतर्गत Smartphone डिवाइस को रखा गया है जो कि एक Active NFC Device का सबसे मुख्य उदाहरण है

Passive NFC Device
इसके अंतर्गत वह Device आते हैं जो कि NFC डिवाइसों को Information भेज सकते हैं इनके लिए विद्युत की आवश्यकता नहीं होती है इनमें इंफॉर्मेशन को प्रोसेस करने की काबिलियत नहीं होने के कारण यह Passive NFC Device कहलाते हैं

Touch Screen Kya Hai, Yah Kaise Kaam Karta Hai?

NFC की प्रणाली

NFC 3 प्रकार की प्रणालियों के अंतर्गत काम करती है जो कि Peer to Peer, Read and Write और Card Emulation होती है

Peer to Peer
इसमें 2 डिवाइसों को एक्टिव रहना जरूरी होता है तभी डाटा का आदान-प्रदान किया जा सकता है

Read and Write
इस प्रकार के Communication में सबसे बेहतर उदाहरण NFC Tag को माना गया है जो कि इंफॉर्मेशन को Read/Write करता है

Card Emulation
Card Emulation के अंतर्गत Debit Card, Credit Card या Smart Card का यूज किया जाता है

NFC का उपयोग

NFC का उपयोग हम कई प्रकार से कर सकते हैं यहां नीचे दिए हुए स्टेप्स में आप उनके बारे में जानेंगे

इसका उपयोग सर्वप्रथम Data Transfer के रूप में कर सकते हैं इसके साथ ही साथ हम इसका उपयोग Payment करने के लिए भी कर सकते हैं

NFC का उपयोग कैमरे के रूप में भी किया जा सकता है जो की Images और Videos शेयर करने के लिए काम आती है

इसका उपयोग एक Business Card के रूप में भी किया जा सकता है

Digital Wallet, Android Device Sharing के लिए भी इसका यूज किया जा सकता है

NFC के फायदे और नुकसान

जो सुविधा हमारा जीवन आसान बनाती हैं उसके फायदे और नुकसान भी होते हैं उसी तरह NFC के फायदे और नुकसान हम इस पोस्ट में जानेंग

सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें समय की बचत होती है जिसके कारण हम आसानी से और कम से कम समय में Payment या Data Transfer कर सकते हैं

इसको यूज़ करने के लिए सिर्फ एक यूजर की आवश्यकता होती है जो कि NFC का यूज कर रहा होता है इसके कारण NFC सुविधा और आसान बन जाती है क्योंकि इसे Independently यूज किया जा सकता है इसके लिए किसी की सहायता की जरूरत नहीं होती है

NFC को यूज जब हम लेन-देन के लिए करते हैं तो इसमें PIN Code की आवश्यकता नहीं होती है इसलिए यह सुरछित नहीं माना गया है

यह सुविधा महंगी होने के कारण इसे कई लोग अपनाना पसंद नहीं करते हैं

hi.wikipedia.org/नियर फील्ड कम्युनिकेशन

निष्कर्ष

आज की पोस्ट में आपने NFC से जुडी हुए जानकारी को जाना कि यह सुविधा हमारे जीवन को किस तरह से आसान बना सकती है साथ ही साथ इसके Disadvantage को भी जाना

मुझे उम्मीद है कि आपको आज की जानकारी महत्वपूर्ण लगी होगी यदि आपका कोई कमेंट या सुझाव हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं और हमें बेहतर सेवा का मौका प्रदान करें

धन्यवाद