Antivirus Kya Hota Hai, Virus or Antivirus Me Antar

जिस प्रकार से हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए कसरत और सही आहार की जरूरत होती है उसी प्रकार से किसी भी डिवाइस को अनजाने खतरों से बचाने के लिए Antivirus की जरूरत होती है यह ठीक उसी प्रकार से काम करता है जिस प्रकार से एक शरीर में Immunity काम करती है

Antivirus logo

कंप्यूटर में कई प्रकार के डिवाइस को कनेक्ट करके या इंटरनेट का इस्तेमाल करके कई ऐसे वायरस आ जाते हैं जिनकी वजह से कंप्यूटर Hang होने लगता है या फिर खराब भी हो जाता है इनसे बचने के लिए हम कंप्यूटर में Antivirus का इस्तेमाल करते हैं जो वायरस को कंप्यूटर में आने से रोकने के साथ-साथ उन्हें खत्म भी करता है चलिए देखते हैं कि Antivirus क्या है

Antivirus क्या है?

एंटीवायरस एक प्रकार का प्रोग्राम या इसे सॉफ्टवेयर भी कहा जा सकता है जिसका मुख्य रूप से कार्य कंप्यूटर में छुपे हुए Malware या Spyware वायरस को ढूंढ कर उन्हें खत्म करने का कार्य होता है साथ ही साथ जब हम किसी डिवाइस को अपने कंप्यूटर में या फिर इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तब कई प्रकार के वायरस से हमारे डिवाइस को नुकसान हो सकता है इसी वजह से हम अपने डिवाइस में Antivirus का इस्तेमाल करते हैं

इंटरनेट पर कई प्रकार के ऐसे वायरस होते हैं जिनकी वजह से हमारे कंप्यूटर की स्पीड बहुत स्लो या फिर हमारा सिस्टम भी खराब हो सकता है वायरस मुख्य रूप से Malware, Spyware, Ransomware आदि होते हैं

Antivirus कैसे कार्य करता है?

जैसा कि आपने जाना कि Antivirus भी एक प्रोग्राम या सॉफ्टवेयर होता है इसके काम करने के पीछे मुख्य वजह यह है कि यह अपने Database को फाइल के रूप में Scan करता है यदि कोई फाइल दोबारा से डेटाबेस में पाई जाती है तो यह उसे Virus का नाम देता है

यूजर द्वारा इंस्टॉल किए गए नए Application को Antivirus स्कैन करता है यदि उसमें किसी प्रकार का वायरस मौजूद है तो वह उसे इंस्टॉल करने से रोकता है

जब एंटीवायरस किसी वायरस को पहचान लेता है तो उसे वह यूजर के सामने Notification के रूप में प्रकाशित करता है जिससे यह पता चल जाता है कि वह वायरस कैसे और कहां से आया है इसके साथ-साथ यूजर को यह भी पता चलता है कि वह वायरस किस फाइल से जुड़ा हुआ है

एंटीवायरस द्वारा दिए हुए नोटिफिकेशन में कुछ विकल्प होते हैं जो यूजर अपने सुविधा के हिसाब से उनका चुनाव कर सकता है

Antivirus की विशेषताएं

एंटीवायरस की मुख्य रूप से कई विशेषताएं होती हैं जिसकी सहायता से वह डिवाइस को सुरक्षा प्रदान करता है आप नीचे दिए हुए स्टेप्स में इसे विस्तार से समझ सकते हैं

Full Scan

एंटीवायरस Install होने के बाद वह पूरे सिस्टम को Scan करता है वह यह ढूंढने की कोशिश करता है कि सिस्टम में पहले से किसी भी प्रकार का Virus उपलब्ध तो नहीं है यदि वह वायरस ढूंढ लेता है तो वह यूजर को Notification दर्शाता है जो यूजर अपनी इच्छा अनुसार उस पर प्रक्रिया करता है

Background Scanning

एक बार कोई सिस्टम या डिवाइस Start होता है तो उसमें उपस्थित Antivirus भी शुरू हो जाता है जिसे यदि हम Close कर देते हैं तो भी वह Background में चलता रहता है यह इसलिए होता है कि हम अपने सिस्टम में कई प्रकार की Activity करते ही रहते हैं और एंटीवायरस का यह कार्य होता है कि वह यूजर द्वारा की हुई एक्टिविटी पर निगरानी रख सके ताकि किसी भी प्रकार का वायरस डिवाइस में एंटर ना हो सके

Virtual Reality Kya Hai

Antivirus vs Virus

Virus ठीक उसी प्रकार से कार्य करता है जिस प्रकार से हमारे शरीर में एक बीमारी कार्य करती है और Antivirus ठीक उसी प्रकार से कार्य करता है जिस प्रकार से हमारे शरीर में दवाई कार्य करती है

वायरस यूजर की अनुमति लिए बिना ही सिस्टम में एंटर हो जाते हैं जबकि एंटीवायरस यूजर की इच्छा अनुसार ही सिस्टम में Install होता है

वायरस कई प्रकार के होते हैं वही एंटीवायरस के Software का ढांचा एक समान रुप का होता है

Virus और Antivirus में एक समानता पाई जाती है कि यह दोनों ही मनुष्य द्वारा बनाए जाते हैं जिसके अपने-अपने फायदे और नुकसान होते हैं

Antivirus के उपयोग

एंटीवायरस के कई सारे उपयोग होते हैं जिनमें से मुख्य रूप से इनका उपयोग लेन-देन को सुरक्षा प्रदान करना होता है

एंटीवायरस का इस्तेमाल बैंक के क्षेत्र में बहुत ही उपयोगी साबित होता है क्योंकि इंटरनेट बैंकिंग या फिशिंग से जुड़ी हुई समस्याएं आज के समय में बहुत बढ़ रही हैं इन्हें कम करने के लिए हम Antivirus का उपयोग करते हैं

एंटीवायरस का इस्तेमाल करके हम अपने डिवाइस के डेटा की सुरक्षा कर सकते हैं जोकि इंटरनेट या किसी अन्य डिवाइस को कनेक्ट करने की वजह से कई प्रकार के हानिकारक वायरस से बचाता है

इसका उपयोग करने से Hard Disk को होने से बचाया जा सकता है

Antivirus की हानियां

एंटीवायरस का मुख्य रूप से नुकसान यह है कि इसे कार्य करने के लिए कंप्यूटर की मेमोरी की आवश्यकता होती है जिसकी वजह से कंप्यूटर की Speed पर गहरा असर होता है और कंप्यूटर की स्पीड धीमी हो जाती है

यह आपको सुनने में तो अजीब लग रहा होगा लेकिन यह सत्य है क्योंकि किसी भी प्रोग्राम को चलने के लिए मेमोरी की आवश्यकता होती है जो कि वह उसी डिवाइस से लेता है जिस जसमें वह Install होता है

एंटीवायरस सिस्टम को Scan करने में कभी-कभी फाइल को छोड़ देता है जिसकी वजह से हमारे सिस्टम की सिक्योरिटी पर असर होता है और वायरस एंटर होने का खतरा बना रहता है

hi.wikipedia.org/एंटीवायरस

निष्कर्ष

आज की जानकारी में आपने एक ऐसे सॉफ्टवेयर के बारे में जाना जिसकी मदद से आप अपने डिवाइस को वायरस से सुरक्षित रख सकते हैं और अपने डेटा को प्रोडक्ट कर सकते हैं

आज की दी हुई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे यदि आपका कोई कमेंट या सुझाव हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं और हमें बेहतर सेवा का मौका दें

धन्यवाद